नोएडा: मल्टी स्टोरी निर्माणाधीन इमारत की शटरिंग गिरने से 4 मजदूरों की मौत, 6 घायल

  • नोएडा: मल्टी स्टोरी निर्माणाधीन इमारत की शटरिंग गिरने से 4 मजदूरों की मौत, 6 घायल

 

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस और प्रशासन मौके पर पहुंच गया है, राहत और बचाव कार्य जारी है. मृतकों के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है, परिजन आर्थिक सहायता की मांग कर कर रहे हैं.

नोएडा: दिल्ली से  सटे नोएडा के सेक्टर 94 में कैपिटल सिटी बीपीटीपी बिल्डिंग की शटरिंग गिरने से कई मजदूर मलबे के नीचे दब गए. इस हादसे में चार लोगों की मौत हो गई जबकि छह अन्य लोग घायल हो गए. घायलों में दो लोगों की हालत नाजुक बताई जा रही है.

पुलिस उपाधीक्षक (नगर) अवनीश कुमार ने बताया कि सेक्टर 39 थाना क्षेत्र के सेक्टर 94 में बीपीटीपी बिल्डर्स एक हाईराइज बिल्डिंग बना रहे हैं. रविवार सुबह करीब 10 बजे इमारत के निर्माण में लगाई गई लोहे की शटरिंग अचानक गिर गई. घटना में वहां खड़े 10 मजदूर मलबे में दब गए. कुमार ने बताया कि मौके पर पहुंचे पुलिस दल ने शटरिंग के नीचे दबे हुए 10 मजदूरों अशोक, विजयपाल, महेश, अजय, शादाब, नौशाद, करण, नसरुल, राम जय कुमार और चक्रधारी को बाहर निकाला. इन सभी को नोएडा और दिल्ली के विभिन्न अस्पतालों में ले जाया गया.

उन्होंने बताया कि इलाज के दौरान नौशाद, राम जय कुमार, करण और अशोक की मौत हो गई. अन्य घायलों में से दो की हालत गंभीर बनी हुई है.कुमार ने बताया कि पुलिस ने चारों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. उन्होंने कहा कि पुलिस मामले की जांच कर रही है. पहली नजर में मामला बिल्डर की लापरवाही का लग रहा है.

अधिकारी ने कहा, इस संबंध में मृतकों के परिजनों की ओर से तहरीर मिलने पर पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी, उन्होंने बताया कि एनडीआरएफ और दमकल विभाग की टीमें मौके पर मौजूद हैं.

घटना की वजह से सेक्टर 94 की निर्माणाधीन साइटों पर काम कर रहे मजदूरों में हड़कंप मच गया है. मौके पर हजारों की संख्या में मजदूर एकत्र हो गए थे जिन्हें पुलिस ने समझा बुझा कर वहां से हटाया.

बता दें कि इससे पहले ग्रेटर नोएडा के शाहबेरी गांव में बारिश के दौरान 2 इमारतें ताश के पत्तों की तरह बिखर गयीं थीं. जिसके मलबे में दब कर 9 लोगों की जिंदगियां काल के गाल में समा गयीं थीं. हादसे के बाद प्रशासन ने अवैध निर्माणों के खिलाफ बड़ी कार्यवाही का आश्वासन दिया था और कई लोगों को गिरफ्तार भी किया गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *